Breaking News

रोबोट बन रहे नए हीरो, मरीजों के इलाज और उनकी देखभाल से लेकर घर पर जरूरी सामान तक पहुंचा रहे

फ्लोरिडा के मेयो क्लीनिक ने अमेरिका में पहली बार कोरोना टेस्टिंग के लिए ऑटोनोमस व्हीकल लॉन्च की है। यह सैंपल लेकर लैब में पहुंचाती है।
फ्लोरिडा के मेयो क्लीनिक ने अमेरिका में पहली बार कोरोना टेस्टिंग के लिए ऑटोनोमस व्हीकल लॉन्च की है। यह सैंपल लेकर लैब में पहुंचाती है।

  • थाईलैंड और इजरायल में मरीज डॉक्टरों से परामर्श के लिए रोबोट के साथ मिलते हैं, यह मरीजों के फेफड़ों का चेकअप भी करते हैं
  • वुहान में कोरोना संक्रमितों को रोबोट्स के जरिए खाना परोसा गया, तापमान लेना और उनसे बात करने जैसे काम भी किए गए

सैन फ्रांसिस्को. कोरोनावायरस का संक्रमण दुनियाभर के लिए चुनौती बना हुआ है। यह इंसानों में तेजी से फैलता है। एक संक्रमित व्यक्ति सैकड़ों लोगों को संक्रमित कर सकता है। इसके मरीजों का इलाज करने वालों डॉक्टरों, नर्सों और स्वास्थ्य कर्मचारियों पर भी संक्रमण का खतरा बना रहता है। ऐसे में रोबोट इस प्रक्रिया में महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहे हैं। हम बात रहे हैं चीन के शहर वुहान की। जहां से कोरोनावायरस का संक्रमण फैला था।

यहां कोरोना संक्रमितों के इलाज के लिए बनाए गए अस्थाई अस्पताल में रोबोट्स की टीम ने अस्थाई तौर पर मरीजों की देखभाल की। यहां रोबोट के द्वारा ही मरीजों को खाना परोसा गया। समय-समय पर उनका तापमान लिया गया। मशीनों द्वारा ही मरीजों से बातचीत भी की गई। ऐसा ही एक रोबोट क्लाउड जिंजर है, जिसे चीन की क्लाउडमाइंड्स ने बनाया है। यह कंपनी बीजिंग और कैलिफोर्निया में काम करती है।

रोबोट्स की मदद से चलाए गए थे अस्पताल

क्लाउडमाइंड्स के प्रेसिडेंट कार्ल झाओ ने इन ह्यूमेनॉइड रोबोट के बारे में कहा- यह उपयोगी जानकारी, बात करने और नाच-गाने के साथ मनोरंजन और यहां तक ​कि स्ट्रेचिंग अभ्यास के माध्यम से मरीजों की देखभाल कर रहे हैं। स्मार्ट फील्ड (अस्थायी) अस्पताल पूरी तरह से रोबोट्स की मदद से चलाए गए थे। एक छोटी मेडिकल टीम ने रिमोट से अस्पताल के रोबोट को नियंत्रित किया। मरीजों को रिस्टबैंड पहनाए गए, जो उनका ब्लड प्रेशर और अन्य वाइटल डेटा जमा करते थे।

भविष्य में कर सकेंगे मरीजों की देखभाल
इन रोबोट्स ने कुछ दिनों के लिए ही रोगियों को संभाला, पर इससे भविष्य की तस्वीर स्पष्ट हो गई कि रोबोट संक्रामक रोगों के मरीजों की देखभाल करेंगे। वहीं स्वास्थ्य कर्मचारी सुरक्षित दूरी से उनकी मदद लेंगे। थाईलैंड, इजरायल जैसे देशों में मरीज डॉक्टरों से परामर्श के लिए रोबोट के साथ मिलते हैं। कुछ रोबोट मरीजों के फेफड़ों का चेकअप करते हैं। यह पूरा काम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होता है।

अमेरिका: ऑटोनोमस व्हीकल से टेस्टिंग
फ्लोरिडा के मेयो क्लीनिक ने अमेरिका में पहली बार कोरोना टेस्टिंग के लिए ऑटोनोमस व्हीकल लॉन्च की है। यह सैंपल लेकर लैब में पहुंचाती है। इसमें इंसान की जरूरत नहीं पड़ती, इसलिए संक्रमण की फिक्र भी नहीं है। वॉशिंगटन में स्टारशिप टेक्नोलॉजी ने डिलीवरी रोबोट के जरिए सामान भेजना शुरू कर दिया है।

अमेरिका में रोबोट कर रहे घर पर ग्रॉसरी की डिलीवरी

अमेरिका के वाशिंगटन में इन दिनों इस तरह के ऑटोमेटिक डिलीवरी सिस्टम्स का इस्तेमाल किया जा रहा है। स्टारशिप टेक्नोलॉजीस ने ये डिलीवरी रोबोट बनाएं हैं, जो स्टोर से लोगों के घर तक सामान ले जाने का काम कर रहे हैं। 

About JC Merry

Check Also

डब्ल्यूएचओ प्रमुख गेब्रेयेसिएस ने अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प और चीन के राष्ट्रपति जिनपिंग को एकजुट रहने की सलाह दी। दोनों नेताओं से कहा है कि वे महामारी रोकने पर ध्यान दें। (फाइल)

पहले कोरोना पर हो रही राजनीति को क्वारैंटाइन करो, महामारी को लेकर आरोप-प्रत्यारोप आग से खेलने जैसा: डब्ल्यूएचओ प्रमुख

डब्ल्यूएचओ प्रमुख गेब्रेयेसिएस ने अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रम्प और चीन के राष्ट्रपति जिनपिंग को एकजुट रहने …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *