Breaking News

कोरोना से जुड़ी फेक न्यूज़ रोकने को वॉट्सऐप ने घटाई मैसेज फॉरवर्ड करने की लिमिट, अब एक बार में एक चैट पर भेज सकेंगे मैसेज

WhatsApp has reduced the limit of forwarding messages to prevent fake news related to Corona, now you can send messages on one chat at a time

नई दिल्ली. वॉट्सऐप ने कोरोना वायरस से जुड़ी फेक न्यूज़ पर लगाम लगाने के लिए मंगलवार को मैसेज फॉरवर्ड करने की लिमिट में बदलाव किए। अब यूजर्स किसी मैसेज को एक बार में सिर्फ एक चैट पर ही शेयर कर सकेंगे। इससे पहले किसी मैसेज को एक बार में पांच लोगों को भेजने की सुविधा थी। यह लिमिट खासतौर से उन मैसेज के लिए रहेगी जिन्हें पहले ही पांच या उससे अधिक बार फॉरवर्ड किया जा चुका है।

फॉरवर्ड मैसेज शेयर में आएगी 25 फीसदी की कमी
मतलब अब एक समय पर सिर्फ एक चैट पर ही भेजा जा सकेगा। वॉट्सऐप पर फ्रिक्वेंटली फॉरवर्डेड मैसेज के साथ उपर की ओर डबल टिक दिखेगा। वॉट्सऐप का कहना है कि पहले फ्रिक्वेंटली फॉरवर्डेड मैसेज को सिर्फ 5 लोगों को भेजने की सीमा थी। लेकिन अब इस लिमिट को एक कर दिया गया है जिससे फॉरवर्ड मैसेज शेयर होने में 25% की कमी आएगी।

कोरोनावायरस के दौरान मैसेज फॉरवर्ड में 40 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज
हाल ही में वॉट्सऐप की ओर से अपने यूज़र्स के लिए फॉरवर्ड मैसेज की प्रमाणिकता जांचने के लिए सर्च विकल्प पेश करने की जानकारी सामने आई थी, जिसमें यूज़र वॉट्सऐप पर आई किसी खबर को सर्च करके यह पता लगा सकता है कि खबर सही या है फेक। एक रिपोर्ट के मुताबिक, लॉकडाउन की वजह से वॉट्सऐप मैसेज फॉरवर्ड करने में 40 फीसदी की बढ़ोतरी दर्ज की गई है।

21 दिनों का लॉकडाउन जारी
जैसा कि सभी जानते हैं COVID-19 यानी कोरोना वायरस महामारी के कारण पूरी दुनिया इस वक्त लॉकडाउन से गुज़र रही है, भारत में भी इन दिनों 21 दिनों का लॉकडाउन लागू है। ऐसे में जब हर कोई अपने घरों में बंद है, तो बाहरी दुनिया से जुड़ने के लिए लोगों का रुख ऑनलाइन बढ़ गया है। साथ ही वॉट्सऐप फॉरवर्ड मैसेज में इजाफा देखा गया है।

About Paras Chabra

Check Also

From Customers to Communities: Ford Family Extends A Helping Hand in India’s Fight Against COVID-19

कोविड-19 के चलते फोर्ड अपने ग्राहकों के लिए लाई प्राइस प्रोटेक्शन और वारंटी एक्सटेंशन जैसी सर्विस

नई दिल्ली. कोरोना महामारी के दौरान लगाए गए प्रतिबंधों एवं स्वास्थ्य की समस्याओं को देखते …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *