Breaking News

अमेजन के डिलीवरी पार्टनर के संक्रमित होने और क्वारंटाइन होने पर मिलेगी आर्थिक मदद, राहत कोष में जमा किए 25 मिलियन डॉलर

इस फंड का उपयोग वे लोग करेंगे जिन्हें संक्रमित किया गया हो या जिनमें कोविड-19 की पहचान हुई हो
इस फंड का उपयोग वे लोग करेंगे जिन्हें संक्रमित किया गया हो या जिनमें कोविड-19 की पहचान हुई हो

  • इस फंड का उपयोग वे लोग करेंगे जिन्हें संक्रमित किया गया हो या जिनमें कोविड-19 की पहचान हुई हो

नई दिल्ली. ई-कॉमर्स कंपनी अमेजन ने शुक्रवार को कहा कि वह कोरोना वायरस महामारी के मद्देनजर भारत के डिलिवरी भागीदारों को भी 2.5 करोड़ डॉलर के वैश्विक राहत कोष का लाभ देगी। कंपनी ने एक बयान में कहा कि वह इस राहत कोष का लाभ डिलीवरी सर्विस पार्टनर प्रोग्राम, अमेजन फ्लेक्स प्रोग्राम तथा ट्रक भागीदारों को देगी।

कई रोकथाम उपायों को लागू कर चुका है

कंपनी ने अपने स्टेटमेंट में कहा, ‘कोरोना वायरस से संक्रमित पाए जाने वाले योग्य भागीदार इस वैश्विक राहत कोष का उपयोग कर सकेंगे। जिन्हें संक्रमण की आशंका के चलते क्वारंटाइन कर दिया गया है, वे भागीदार भी इसका उपयोग कर सकेंगे। हालांकि, हमें यह आशा है कि इस विकट समय में भी उपभोक्ताओं को सेवाएं दे रहा उसका कोई भागीदार कोरोना वायरस महामारी से संक्रमित नहीं है। लेकिन अगर कोई संक्रमित होता है, तो यह राहत कोष उन लोगों के लिए ही है।’

ई-कॉमर्स कंपनी ने कहा कि इस राहत फंड से ऐसे कई लोगों को आर्थिक सुरक्षा मिलेगी जो उनकी सेवाओं में प्रमुख योगदान देते हैं, लेकिन उनके कर्मचारी नहीं हैं। गौरतलब है कि कंपनी ने मार्च महीने में 25 मिलियन डॉलर का वैश्विक राहत कोष बनाने की घोषणा की थी।

वर्क फाॅर डाॅक्टर्स.इन ने 10000 डॉक्टरों तक पहुंचाई सेवा मदद

स्मार्ट वियरेबल कंपनी हुआ मी कॉरपोरेशन ने आवश्यक स्वच्छता आपूर्ति के साथ देशभर के अस्पतालों में मदद करने के लिए #WorkForDoctors कैंपेन लॉन्च किया है। इस अभियान के तहत कोरोनोवायरस महामारी से लड़ने वाले लोगों की मदद के लिए कई डॉक्टरों और अस्पतालों को N95 मास्क और PPE किट जैसे सुरक्षात्मक गियर की मुफ्त आपूर्ति की जा रही है। भारत सरकार ने भी इस सेवा को बढ़ाने के लिए हाथ बढ़ाया है। इंडिया पोस्ट ने इस मुहिम से जुड़ने के लिए मंजूरी दे दी है। कंपनी ने हाल ही में एम्स नई दिल्ली, दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल नई दिल्ली, राम मनोहर लोहिया अस्पताल नई दिल्ली, मानव देखभाल चिकित्सा धर्मार्थ ट्रस्ट, द्वारका और एसएन मेडिकल कॉलेज आगरा, सीएमओ अयोध्या सरकार अस्पताल, सीएमओ नोएडा अस्पताल को एन 95 मास्क दान किया है।

About Jannat Mirza

Check Also

टाटा संस के चेयरमैन एन. चंद्रशेखरन ने ईटी से एक टेलीफोनिक इंटरव्यू में कहा कि कोरोनावायरस महामारी के कारण प्रत्येक देश में ठहराव सा आ गया है।

कोरोना के कारण घर लौटे लोगों को काम पर वापस लाना बड़ी चुनौती: एन चंद्रशेखरन

टाटा संस के चेयरमैन एन. चंद्रशेखरन ने ईटी से एक टेलीफोनिक इंटरव्यू में कहा कि …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *